आज 7 अक्टूबर ,जो बोले सो निहाल, सत श्री अकाल

0
49

मंगलमय सुप्रभात

जब-जब होत अरिस्ट अपारा। तब-तब देह धरत अवतारा।”
जो बोले सो निहाल, सत श्री अकाल…. वाहे गुरु जी की खालसा, वाहे गुरु जी की फतेह  …
आज 7 अक्टूबर – पुण्यतिथि पर नमन है गुरु गोविन्द सिंह जी को ।
गुरु गोविन्द सिंह सिख धर्म के दसवे और अंतिम गुरु का जन्म हमारे इस पटना में 22 दिसंबर 1666 में हुआ था । आज इस महान पावन धरती से उनकी पुण्यतिथि पर नमन करती हुँ ।
गुरु गोविन्द जी ने सिख धर्म के लिए पांच ककार अनिवार्य घोषित किया ये पांच ककार केश, कंघा, कच्छा, कड़ा और कृपाण , जो सिख धर्म के अनुयायी को युद्ध की प्रत्येक स्थिति में तैयार रहने की प्रेरणा देता है..
उन्होंने कहा कि अब उनके बाद कोई देहधारी गुरु नही होगा अब गुरु का मार्ग गुरुग्रंथ साहिब ग्रन्थ प्रशस्त करेगी। 7अक्तूबर सन् 1708 ई. को गुरु गोविन्द सिंह जी का निधन महाराष्ट्र के नांदेड स्थान में हुई थी। उनका जीवन दर्शन हमारा मार्ग प्रशस्त करती है। ऐसे धर्म पथ प्रदर्शक महान गुरु गोविन्द सिंह जी को आज उनकी पुण्यतिथि पर बारम्बार नमन और अभिनन्दन है .. उनके पावन और शौर्यपूर्ण जीवन को समाज के आगे लाते रहने के अपने संकल्प को भी दोहराता है ।

आज के दिन ही भगतसिंह को सज़ा-ए-मौत की तामीली का ट्रिब्यूनल द्वारा जारी वारण्ट जिसमे लिखा गया था कि ‘:- भगतसिंह, वल्द किशनसिंह, निवासी खवासरियाँ, लाहौर, जो लाहौर षड्यन्त्र केस के क़ैदियों में से एक है, को 5 मई, 1930 को शुरू होकर 7 अक्टूबर, 1930 को ख़त्म हुए मुक़दमे में भारतीय दण्ड संहिता की धारा 121 और धारा 302 के तहत और विस्फोटक पदार्थ क़ानून की धारा 5 के साथ पठित उस क़ानून की धारा 4(बी) और भारतीय दण्ड संहिता की धारा 120-एफ़ के तहत अपराध का दोषी पाया गया है और एतद्द्वारा मृत्युदण्ड दिया जाता है।
इस आदेश द्वारा आपको, उपरोक्त सुपरिण्टेण्डेण्ट को, अधिकृत किया जाता है और अपेक्षा की जाती है कि इस आदेश पर अमल करते हुए 17 अक्टूबर के दिन लाहौर में उपरोक्त भगतसिंह को गरदन से तब तक लटकाया जाये जब तक उसकी मृत्यु न हो जाये, और आदेश पर अमल के प्रमाणपत्र के साथ इस वारण्ट को हाईकोर्ट को वापस भेज दें।
हमारे हाथों से तथा अदालत की मुहर के साथ आज 7 अक्टूबर 1930 को दिया गया।
ट्रिब्यूनल की मुहर…

आज बिहार की राजनीति में एक नया अध्याय गाँधी मैदान गया में दिखेगा । वही पटना में बापू सभागार में बिहार की आधी आबादी का साथ जदयू को मिलेगा ।

अमेरिका में 9/11 हमले के बाद आज ही के दिन
7 अक्तूबर सन 2001 को अमरीका ने अफ़ग़ानिस्तान के विरुद्ध अपनी सैन्य कार्यवाही आरंभ की। अमरीकी युद्धक विमानों ने तालेबान के ठिकानों पर आक्रमण किया जिनके अधिकार में अफ़ग़ानिस्तान का अधिकांश भाग था जो अलक़ायदा का समर्थन कर रहे थे। अमरीका के इस आक्रमण में भारी संख्या में निर्दोष लोग मारे गये।

आज 7 ओक्टुबर का इतिहास में देखगे तो
1919 में आज ही गांधीजी ने ‘नवजीवन’ पत्रिका प्रकाशित की थी , 1942 में अमेरिका और ब्रिटिश ने संयुक्त राष्ट्र की स्थापना की घोषणा की थी ।
1950 में आज के दिन मदर टेरेसा ने कोलकाता में मिशनरीज ऑफ़ चैरिटी की स्थापना की थी तो वही 1952 में चंडीगढ़ पंजाब की राजधानी बनी।

आज कुछ मुख्य लोगो की जन्मतिथि है जिनमे रूस के वर्तमान राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन , भारत की प्रसिद्ध ग़ज़ल और ठुमरी गायिका बेगम अख़्तर , स्वतंत्रता सेनानी तथा महात्मा गाँधी के निकट सहयोगी नरहरि पारिख , प्रसिद्ध कवि एवं आलोचक विजयदेव नारायण साही , क्रिकेटर जहीर खान , प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी एवं पूर्व लोकसभा अध्यक्ष बली राम भगत , विनोद खन्ना का जन्म आज ही के दिन पेशावर, पाकिस्तान में हुआ था ।

उत्तराखंड में आज 7 अक्टूबर से शुरू होने वाले इन्वेस्टर मीट में भाग लेने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी देहरादून पहुंचेगे । यह कार्यक्रम 7 अक्टूबर से लेकर 8 अक्टूबर तक चलेगा। जिसमें देश-विदेश के लगभग 1700 इन्वेस्टर मौजूद रहेंगे।

आज 7 अक्तूबर विक्रम संवत् 2075 आश्विन मास कृष्णा पक्ष की त्रयोदशी तिथि दिन रविवार आप सबके मनोकूल हो ।