गुडमॉर्निंग, प्रणाम भारत 🙏

0
59

आज 7 जनवरी विक्रम संवत 2075 पौष मास के शुक्लपक्ष की द्वितीया तिथी दिन सोमवार आप सबके लिए सौभाग्यशाली और हितकारी हो ।
आज का दिन संसद से लेकर सड़क तक आज धूम रहेगी , कई ऐसे मामले है जो आज के दिन को महत्वपूर्ण बना देंगे । आज संसद के शीतकालीन सत्र का अहम दिन, दोनो दलों ने अपने अपने सांसदों को विहप जारी किया है । राफेल मुद्दे को लेकर संसद के शीत सत्र में आज एक बार फिर हंगामे के आसार दिख रहे है । संसद में आज नागरिकता (संशोधन) विधेयक 2016, नागरिकता अधिनियम 1955 में संशोधन विधेयक पेश होगा । आज सुप्रीम कोर्ट पश्चिम बंगाल में बीजेपी को रथयात्रा की अनुमति नहीं देने के कलकत्ता हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ पार्टी की याचिका पर आज सुनवाई होगी। केरल में भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद वी मुरलीधर के घर में बम विस्फोट को लेकर भाजपा सासंद आज संसद परिसर के बाहर धरना प्रदर्शन करेंगे। यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी जी आज कांग्रेस संसदीय दल (CPP) के सदस्यों के लिए डिनर का आयोजन कर रही हैं। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव जी के सरकारी बंगले से संबंधित सुनवाई पर आज पटना हाईकोर्ट अपना फैसला सुनाएगा। ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के प्रोमो के बाद आज वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ फिल्म का पहला पोस्टर आज रिलीज़ होगा । प्रधानमंत्री मोदी बने विवेक ओबरॉय के लुक का इंतजार है।

अब बात करे इतिहास की तो 1980 में आज ही के दिन पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी भारी बहुमत के साथ चुनाव जीत कर सत्ता में लौटी थीं । इस नाटकीय वापसी तक की घटनाएं भी भारतीय राजनीति का एक महत्वपूर्ण अध्याय हैं ।भारत की जनता ने तीन साल तक सत्ता से दूर रखने के बाद कांग्रेस पार्टी की सबसे शक्तिशाली नेता इंदिरा गांधी को वापस चुना। गांधी ने देश में इमरजेंसी लागू करने की भारी कीमत 1977 में अपनी चुनावी हार से चुकाई थी। 1980 के चुनावों में उन्होंने संसद के निचले सदन लोकसभा में कुल 525 सीटों में से 351 जीतीं। इसी के साथ उनकी दो विरोधी पार्टियों जनता दल और लोक दल को करारी हार का मुंह देखना पड़ा। ये दोनों ही पार्टियां संसद में आधिकारिक विपक्षी दल बनने के लिए जरूरी न्यूनतम 54 सीटें भी नहीं जीत सकीं ।इन चुनावों में इंदिरा गांधी के पुत्र संजय गांधी भी विजयी रहे । संजय को ही देश में इमरजेंसी के दौरान कई तरह की ज्यादतियों के लिए जिम्मेदार माना जाता है ।

इतिहास में 7 जनवरी कई महत्त्वपूर्ण घटनाओं के कारण खास है।

साल 1859 को सिपाही विद्रोह में संलिप्तता के मामले में मुग़ल सम्राट बहादुरशाह ज़फर (द्वितीय) के ख़िलाफ़ सुनवाई शुरू।

साल 1989 को जापान के सम्राट हिरोहितो का देहावसान, आकिहितो नए सम्राट घोषित कए गए।

साल 1999 को अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन के विरुद्ध महाभियोग की कार्रवाही शुरू।

साल 2000 को जकार्ता (इंडोनेशिया) में 10 हज़ार मुसलमानों ने मोलुकस द्वीप समूह में ईसाईयों के विरुद्ध जेहाद की घोषणा की थी।

साल 2003 को जापान ने विकास कार्यों में मदद के लिए भारत को 90 करोड़ डालर की मदद की घोषणा की थी।

साल 2008 को राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने विनोद राय को नियन्त्रक एवं महालेखा परीक्षक के पद की शपथ दिलाई।

साल 2009 को आई टी कम्पनी सत्यम के चेयरमैन रामालेंगम राजू ने अपेन पद से इस्तीफ़ा दिया।

साल 2010 को जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर के ऐतिहासिक लाल चौक पर एक होटल में छिपे आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच लगभग 22 घंटे लंबी मुठभेड़ दो आतंकवादियों के मारे जाने के साथ ख़त्म हो गई।

7 जनवरी को जन्मे व्यक्ति
1922 – पियरे रामपाल, फ्रांसीसी बाँसुरी वादक
1947 – शोभा डे, भारतीय लेखक
1950 – जॉनी लीवर – हिन्दी फ़िल्मों के हास्य अभिनेता
1957 – रीना रॉय – हिन्दी फ़िल्मों की अभिनेत्री
1961 – सुप्रिया पाठक, भारतीय अभिनेत्री
1979 – बिपाशा बसु – हिन्दी फ़िल्मों की एक अभिनेत्री
1851 – जार्ज अब्राहम ग्रियर्सन – प्रसिद्ध इतिहासकार, अंग्रेज़ी साहित्यकार तथा अन्वेषक।