मंगलमय शुभ सुप्रभात

0
151

मंगलमय सुप्रभात 🙏जय श्री कृष्णा 🙏

आज 9 नवंबर है , कलम के आराध्य देव भगवान चित्रगु्प्त और भाई बहन के अपार प्रेम का प्रतीक भैयादूज पर्व आज है । उत्तराखंड भारत गणराज्य के 27 वें राज्य के रूप में अस्तित्व में आया । बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव , बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार , मशहूर,कवि मोहम्मद इक़बाल का जन्म हुआ। आज विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राहुल गांधी छत्तीसगढ़ के दौरे पर रहेंगे । 28 वर्षों बाद जर्मनी में बर्लिन की दीवार गिरा दी गई ।

जो भी प्राणी धरती पर जन्म लेता है उसकी मृत्यु निश्चित है क्योकि यही विधि का विधान है। विधि के इस विधान से स्वयं भगवान भी नहीं बच पाये और मृत्यु की गोद में उन्हें भी सोना पड़ा। चाहे भगवान राम हों, कृष्ण हों, बुध और जैन सभी को निश्चित समय पर पृथ्वी लोक आ त्याग करना पड़ता है। जो जीवात्मा कर्म बंधन में फंसकर पाप कर्म से दूषित हो जाता हैं उन्हें यमलोक जाना पड़ता है। इन आत्माओं को यमदूत भयंकर कष्ट देते हैं और ले जाकर यमराज के समक्ष खड़ा कर देते हैं। यमराज के दरवार में उस जीवात्मा के कर्मों का लेखा जोखा होता है। कर्मों का लेखा जोखा रखने वाले भगवान हैं चित्रगुप्त। यही भगवान चित्रगुप्त जन्म से लेकर मृत्युपर्यन्त जीवों के सभी कर्मों को अपनी पुस्तक में लिखते रहते हैं । इसी प्रकार की बहुत सी बातें गरूड़ पुराण में वर्णित है।
भगवान चित्रगुप्त परमपिता ब्रह्मा जी के अंश से उत्पन्न हुए हैं और यमराज के सहयोगी हैं। यमराज को धर्मराज की संज्ञा प्राप्त हुई । धर्मराज को सहयोग देने के लिए ब्रह्मा जी की काया से एक उतपत्ति हुआ जो कायस्थ कहलाये और इनका नाम चित्रगुप्त पड़ा। भगवान चित्रगुप्त जी के हाथों में कर्म की किताब, कलम, दवात और करवाल है। ये कुशल लेखक हैं और इनकी लेखनी से जीवों को उनके कर्मों के अनुसार न्याय मिलती है। कार्तिक शुक्ल द्वितीया तिथि को भगवान चित्रगुप्त की पूजा का विधान है। आज वही दिन है । भगवान चित्रगुप्त आप सब पर कृपा बनाये रखे ।

आज भाई दूज है , यह एक ऐसा पर्व है, जो भाई के प्रति बहन के स्नेह को अभिव्यक्त करता है एवं बहनें अपने भाई की खुशहाली के लिए कामना करती हैं। आज के दिन को यम द्वितीया भी कहते है । पौराणिक मान्यताओं के अनुसार कार्तिक शुक्ल द्वितीया को यमुना ने यमराज को अपने घर पर सत्कारपूर्वक भोजन कराया था। उस दिन नारकी जीवों को यातना से छुटकारा मिला और उन्हें तृप्त किया गया। इसीलिए यह तिथि तीनों लोकों में यम द्वितीया के नाम से विख्यात हुई।जिस तिथि को यमुना ने यम को अपने घर भोजन कराया था, उस तिथि के दिन जो मनुष्य अपनी बहन के हाथ का उत्तम भोजन करता है उसे उत्तम भोजन समेत धन की प्राप्ति भी होती रहती है।यदि अपनी बहन न हो तो अपने चाचा या मामा की पुत्री को या माता पिता की बहन को या मौसी की पुत्री या मित्र की बहन को भी बहन मानकर ऐसा करना चाहिए।भाई बहन को अन्न, वस्त्र आदि देकर उससे शुभाशीष प्राप्त करे।यह मुख्यतः भाई-बहन के पवित्र स्नेह को अधिकाधिक सुदृढ़ रखने के उद्देश्य से परिचालित व्रत है।


देवभूमि के नाम से मशहूर उत्तराखंड को बने 18 साल हो चुके हैं..इन 18 साल में इस छोटे से पहाड़ी राज्य ने कई उतार चढ़ाव देखे हैं…इन 18 सालो में 8 मुख्यमंत्री तथा 5 राज्यपालों को इस राज्य ने देखा है । सृष्टि में आये विनाशकारी आपदाओं में से एक आपदा को भी देखा है ।
उत्तर प्रदेश से विभाजित कर उत्तराखंड को एक नया राज्य बनाया गया। जिसका निर्माण आज ही के दिन 2000 में हुआ जब केंद्र में श्रधेय अटल जी
की सरकार थी ।  उत्तराखंड भारत के सत्ताइसवें
राज्य के रूप में किया गया था। शुरू में 2006 तक यह उत्तरांचल के नाम से जाना जाता था बाद में जनवरी 2007 में स्थानीय लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए राज्य का आधिकारिक नाम बदलकर उत्तराखण्ड कर दिया गया। हिमालय क्षेत्र के दो भाग में पूरा उत्तराखंड बसा है । जिसे कुर्मांचल (कुमाऊँ), केदारखण्ड (गढ़वाल) कहा जाता है । पौराणिक ग्रन्थों में कुर्मांचल क्षेत्र मानसखण्ड के नाम से प्रसिद्व था। पौराणिक ग्रन्थों में उत्तरी हिमालय में सिद्ध गन्धर्व,यक्ष, किन्नर जातियों की सृष्टि और इस सृष्टि का राजा कुबेर बताया गया हैं। कुबेर की राजधानी अलकापुरी (बद्रीनाथ से ऊपर) बतK पर स्थित है और यहाँ मौसम और वनस्पति में ऊँचाई के साथ-साथ बहुत परिवर्तन होता है । इस प्रदेश की नदियाँ भारतीय संस्कृति में सर्वाधिक महत्वपूर्ण स्थान रखती हैं। उत्तराखण्ड अनेक नदियों का उद्गम स्थल है। हिन्दुओं की पवित्र नदी गंगाका उद्गम स्थल मुख्य हिमालय की दक्षिणी श्रेणियाँ हैं। गंगा का प्रारम्भ अलकनन्दा व भागीरथी नदियों से होता है।  सूबे के सभी नागरिकों को इस पावन मौके पर बधाई ।

अक्सर किसी न किसी कारण सुर्खियों में रहने वाला लालू यादव जी का परिवार फिलहाल बहुत कठिन परिस्थिति से गुजर रहा है । आज उनके छोटे पुत्र बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री वर्तमान में बिहार के विधायक दल के नेता प्रतिपक्ष , बिहार विधानसभा में राघोपुर से विधायक श्री तेजस्वी यादव का जन्मदिन है , ढेर सारी शुभकामनाएं ।
तेजस्वी यादव राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव एवं पूर्व सीएम राबड़ी देवी के पुत्र है। स्नातक तक शिक्षा हाशिल किये तेजस्वी एक क्रिकेटर भी है। बहुत कम उम्र में राजनीति के सभी कलाओं में माहिर तेजस्वी परिवारिक परेशानियों से जूझते हुए पार्टी पर पकड़ , जनता के बीच अपनी पहचान को बरकरार रखते हुए आगे बढ़ रहे है । उनकी उज्ज्वल भविष्य की कामना करती हूं । एक बार फिर जन्मदिन पर ढेर सारी शुभकामनाएं ।

आज ही बॉलीवुड के सफल अभिनेता अक्षय कुमार का जन्मदिन है । अक्षय फिल्मों में आने से पहले रसोइए के रुप में कार्य करते हुए बैंकॉक में मार्सल आर्ट की शिक्षा प्राप्त कर मुम्बई में बच्चों को मार्सल आर्ट की शिक्षा देते थे । इसके बाद मॉडलिंग के माध्यम से 1991 में फिल्म सौगन्ध के साथ फिल्मी दुनिया के सफर की शुरुआत हुई । उसके बाद लगातार सफल फिल्मों के कारण टॉप 10 अभिनेताओं में शामिल हो गए । आज उनका जन्मदिन है ढेर सारी बधाई ।

आज ही सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा” यह मशहूर गीत लिख कर अमर कलाकार मशहूर,कवि मोहम्मद इक़बाल की जयंती है ।मुहम्मद इक़बाल अविभाजित भारत के प्रसिद्ध कवि, नेता और दार्शनिक थे। उर्दू और फ़ारसी में इनकी शायरी को आधुनिक काल की सर्वश्रेष्ठ शायरी में गिना जाता है।इन्हें पाकिस्तान में राष्ट्रकवि माना जाता है।

देश के पांच राज्‍यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी आज 9 नवंबर को छत्‍तीसगढ़ से चुनावी शंखनाद करने जा रहे हैं वही आज के दिन श्री राहुल गांधी जी भी राज्‍य में रैली और रोड शो करेंगे।
पीएम मोदी जगदलपुर में चुनावी जनसभा को संबोधित करेंगे। वही श्री राहुल गांधी के दौरे की शुरुआत राज्‍य के सीएम रमन सिंह के विधानसभा क्षेत्र राजनंदगांव से होने जा रही है। यहां राहुल गांधी रैली और रोड शो करेंगे।

आज 9 नवम्बर 1989 को बर्लिन दीवार जिसने इस नगर को दो भागों में  विभाजित कर रखा था 28 वर्षों बाद गिरा दी गई। द्वितीय विश्व युद्ध के पश्चात बरलिन नगर का पूर्वी भाग सोवितय संघ और पश्चिमी भाग अमरीका ब्रिटेन और फ़्रांस के अधिकार में चला गया 1961 में बर्लिन में हिंसा बहुत बढ़ गई और पूर्वी बर्लिन के लोग पश्चिमी बरलिन की ओर भाग गए जिससे सोवियत संघ और पूर्वी जर्मनी को चिंता हुई और इन सरकारों ने यह दीवार खड़ी कर दी जो धीरे धीरे जर्मनी के विभाजन का प्रतीक बन गई किंतु सोवियत संघ के विघटन का जर्मनी में भी असर दिखाई दिया और 1989 में बर्लिन दीवार गिरा दी गई।

आज कार्तिक माह के शुक्लपक्ष की द्वितिया तिथि चित्रगुप्त पूजा और भाई-दूज का पर्व आप सबके लिए शुभ और शुक्रवार का दिन मनोकूल हो ।
जय श्री राम ।