26 ओक्टुबर आप सबके मनोकूल हो

0
117

मंगलमय सुप्रभात 🙏

आज 26 अक्‍टूबर भारतीय इतिहास की वो तारीख है, जिसे कोई चाहकर भी हम सब भूल नहीं सकते । क्योंकि आज के ही दिन खूबसूरत और अलौकिक भारत को जन्नत नसीब हुई थी ,जी हां हम बात कर रहे हैं धरती के स्वर्ग यानी कश्मीर की। 26 अक्‍टूबर 1947 को ही कश्मीर का भारत में विलय हुआ था। आज ही के दिन जम्‍मू कश्‍मीर के महाराजा हरिसिंह ने राज्‍य के भारत में विलय के लिए एक कानूनी दस्‍तावेज को साइन किया था।इस दस्‍तावेज को ‘इंस्‍ट्रूमेंट ऑफ एक्‍सेशन’ कहा गया, जिस पर हस्ताक्षर करते ही कश्मीर अधिकारिक तौर पर भारत का हिस्सा बन गया, हरि सिंह ने ये सब अपनी सहमति से किया था क्योंकि वो भारत के प्रभुत्‍व वाला राज्‍य मानने पर सहमत हो गए थे। 25 ओक्टुबर को जम्मू कश्मीर के महाराजा हरी सिंह ने भारत के साथ जाना तय किया था और 26 को दस्तावेज पर दस्तखत किया था ।

देश की सबसे बड़ी प्रमुख संस्थाओं में एक है CBI , पिछले कुछ दिनों से इस संस्थान में सब कुछ उसके नाम और कार्य के अनुरूप सही नही चल रहा है । दफ्तर के अंदर का मामला पहले दफ्तर में उसके बाद कोर्ट में अब सड़क पर आ रहा है । आज यह मामला कोर्ट और सड़क दोनो पर दिखेगा जिसके कारण इसके नाम पर और इसकी विश्वसनीयता धूमिल होने का खतरा बढ़ता जा रहा है । आज इस मुद्दे पर कांग्रेस देश भर में प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। यही नहीं कांग्रेस के नेता सीबीआई हेडक्वार्टर के बाहर भी प्रदर्शन करेंगे।
वही सुप्रीम कोर्ट सीबीआई डायरेक्टर आलोक कुमार वर्मा की अर्जी पर आज सुनवाई होगी ।
चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस एस के कौल और जस्टिस के एम जोसेफ की पीठ ने वर्मा की इस दलील पर विचार किया था कि केंद्र की ओर से उन्हें छुट्टी पर भेजे जाने के फैसले के खिलाफ दायर अर्जी पर तुरंत सुनवाई किए जाने की जरूरत है जसके बाद आज की तारीख तय हुई थी ।

आज किसानों की आय दोगुनी करने के मिशन के तहत किसी भी प्रदेश में पहली बार हो रहे ‘कृषि-कुंभ’ का उद्घाटन आज यूपी की राजधानी लखनऊ में होगा । 26 से 28 अक्तूबर तक चलने वाले इस आयोजन का शुभारंभ आज मांनीनय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करेंगे।


आज गणेशशंकर विद्यार्थी की जयंती हैं , आज ही के दिन 1890 में उनका जन्म हुआ था। एक निडर और निष्पक्ष पत्रकार तो थे ही, इसके साथ ही वे एक समाज-सेवी, स्वतंत्रता सेनानी और कुशल राजनीतिज्ञ भी थे। भारत के ‘स्वाधीनता संग्राम’ में उनका महत्त्वपूर्ण योगदान रहा था। अपनी बेबाकी और अलग अंदाज से दूसरों के मुँह पर ताला लगाना एक बेहद मुश्किल काम होता है। कलम की ताकत हमेशा से ही तलवार से अधिक रही है और ऐसे कई पत्रकार हैं, जिन्होंने अपनी कलम से सत्ता तक की राह बदल दी। गणेशशंकर विद्यार्थी भी ऐसे ही पत्रकार थे, जिन्होंने अपनी कलम की ताकत से अंग्रेज़ी शासन की नींव हिला दी थी। गणेशशंकर विद्यार्थी एक ऐसे स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे, जो कलम और वाणी के साथ-साथ महात्मा गांधी के अहिंसक समर्थकों और क्रांतिकारियों को समान रूप से देश की आज़ादी में सक्रिय सहयोग प्रदान करते रहे। नमन ऐसे शख्सियत को ।

आज 26 अक्तूबर 1955 वियतनाम दो भागों में बट गया था । इसे पश्चिमी सरकारों के षड़यंत्रों के परिणसम स्वरुप वियतनाम का विभजन हो गया जो फ़्रांसीसी साम्राज्य से संघर्ष कर रहा था। पश्चिमी देशों ने एक नए देश के रुप में दक्षिणी वियतनाम की स्थापना की। दक्षिणी वियतनाम की स्थापना का उद्देश्य, जिसके पीछे मुख्य रुप से अमरीका का हाथ था, वियतनाम की सोशियालिस्ट सरकार को कमज़ोर करना और उसका तख़्ता उलटना था। 1965 में जब अमरीकी सेना वियतनामी सेना के विरुद्ध मैदान में उतरी तो दक्षिणी वियतनाम अमरीकी सेना की छावनी बन गया। किंतु इस युद्ध में वियतनाम की सेना ने अमरीकी सेना को पराजित कर दिया सन 1975 में उत्तरी वियतनाम ने दक्षिणी वियतनाम पर आक्रमण करके वहॉ की सरकार का अंत कर दिया। इस प्रकार यह भाग पुन: वियतनाम से जुड़ गया।

 

आज पंचांग शब्द संस्कृत से लिया गया है। पंचांग दो शब्दों के मिलाप से बना है। ” पंच ” मतलब पांच और, “अंग ” मतलब हिस्सा और ये पांच हिस्से इस प्रकार हैं : वार , तिथि , करण , योग , और नक्षत्रा। पंचांग देखने का मूल उद्देश्य है शुभ मुहूर्त देखना , शुभ समय का पता लगाना और त्योहारो की तारीख जानना। आज 26 ओक्टुबर कार्तिक माह कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि शुक्रवार आप सबके लिए शुभ और मनोकूल हो।